बिहार के जमुई जिला में नहीं घुस पाया कोरोना वायरस, जानिये वहाँ की जादू शक्ति

God-power shown in village,

जमुई जेएनएन | साहित्य तथ्य के द्वारा यह दर्शाते है, कि जमुई जांभैयाग्राम के नाम से जाना जाता था |

जैन धर्म के अनुसार 24 वीं तीर्थ कर भगवान महावीर ने उज्जियोवलया नाम की नदी के किनारे स्थित जांघियाग्राम दिव्य प्राप्त है तथा भगवान महावीर का एक दिव्य प्रकाश के एक अन्य जगह का भी जांबियाग्राम उज्जवलिया जैसा रिजुवलीक नदी के किनारे पर “जारबीबग्राम “का पता चला था |

जैसे की लॉक डाउन के 51 वें दिन तक कोरोना वायरस संक्रमण से अछूत महावीर की किसी की नजर न लग जाय , जैसे की यह भय जमुई वासियों को एक भयंकर आकर के रूप में सता रही है | संक्रमण से अछूता जमुई को लेकर इन दिनों देश और प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में रहनेवाले लोगों द्वारा पूछे जा रहे तरह-तरह के सवाल से कुछ ऐसा ही प्रतीत हो रहा है। इसके पीछे लोगों का उद्देश्य प्रशासनिक प्रबंधन और आमजन के साथ-साथ कोरोना योद्धाओं की प्रतिबद्धता जानने की जिज्ञासा मात्र है।

  • जमुई की जनता के नियम का किया पालन

बिहार के जमुई जनता पर लॉकडाउन को लेकर जनता पर लगाया गया खास नियम इस निर्णय का फलाफल यह रहा की दोपहर होते -होते गांव से लेकर शहरों के सड़कें तक पूरी सुनीं हो जनि चाहिए | लोगों ने भी समझदारी दिखाई और परदेस से घर वापसी होने की सूचना प्रशासन तक पहुंचाने में दिलचस्पी दिखलाने लगे | इस कार्य में प्रशासन ने भी पंचायती राज व्यवस्था के सबसे निचले पायदान के प्रतिनिधियों व सुरक्षा व्यवस्था की निचली सीढ़ी अर्थात चौकीदारों के पीठ पर हाथ रखा।

 

Read Next:-

इरफान खान की याद में दीपिका ने जारी किया ये वीडियो

Leave a Reply

%d bloggers like this: